मुझे इतना भी मत घुमा ऐ ज़िन्दगी…

“मुझे इतना भी मत घुमा ऐ ज़िन्दगी,
.
.
.
.
.
.
मैं शहर का शायर हूँ, MRF का टायर नहीं!

You may also like this:

    None Found

Leave a Comment