चौराहे पर एक भिखारी बैठा रहता है।. मैं उसको रोज़ रोटी दे के जाता हूँ…

चौराहे पर एक भिखारी बैठा रहता है ।
मैं उसको रोज़ रोटी दे के जाता हूँ।
आज मैं उसे रोटी देने गया तो वो मुझको देखकर रोते हुए कहने लगा – भाई मेरी किड्नी ले जा और उसे बेचकर दूसरी शादी कर ले
मगर
अपनी बीवी के हाथ की मोटी मोटी जली रोटी खिलाकर मुझे और कष्ट मत दे।