एक बार एक जाट घर पहुंचा और चौधरन से बोला…

एक बार एक जाट घर पहुंचा और चौधरन से बोला :-
“चौधरन हलवा बना”
चौधरन :-
“क्यूं जी, ऐसा क्या है आज ?”
चौधरी :-
“मै शर्त में 1000 रू जीत गया”
चौधरन :-
“कैसे जीत गये जी”
चौधरी :-
“वो बावली बूच रामफल न्यू कहवे था
कि बकरी की चार टॉग हौवे हैं
मैने कहा-
“बकरी के तीन टॉग होवे
और मै शर्त जीत गया”
चौधरन बोली:-
“ठीक ही तो कहवे था रामफल”
चौधरी :-
“तू रामफल की बहु है या मेरी”
“चौधरी बहु तो तेरी ही हूं पर
बात रामफल की ठीक है”
अब चौधरी और चौधरन की बहस हो गई
और
चौधरी ने चौधरन को तब तक पीटा जब तक चौधरन ने तीन टॉग की हामी न भर ली
चौधरन बोली:-
“चौधरी तू ठीक कहवै है
बकरी कै तीन टॉग ही होवै”
चौधरी बोला:-
“वो रामफल भी न्यूं ही माना था”

You may also like this:

    None Found

Leave a Comment